fbpx

Social

बासु चैटर्जी

बासु चैटर्जी ने अपने जीवन काल में इतनी  विशाल प्रदर्शनों की फिहरिस्त हासिल की है कि उनका उल्लेखन करना आसान नहीं।  जिस प्रकार से उन्होंने जीवन की रोज़मर्रा की स्तिथियों को बॉलीवुड…

मुझे तो प्यार से ही प्यार होता है…

प्यार – यह तो एक अहसास है ना, फिर क्यों हम किसी ख़ास के होने ना होने से उस अहसास का तोल मोल करते हैं। हमारी जिन्दगी में तो लोग आते जाते…

Around the Dinner Table in 28 Days

You sit with a group that you belong to. Or maybe a cult you follow together, maybe part of the success coterie and they are all very nice people. Well dressed, perfumed…

भारत-चीन विवाद – An Article by Nikhil Singh

सौ करोड़ से अधिक लोगों को गोद में लिए, मस्तक पर धवल किरीट धारण किए हुए, सागर में पांव पसारे हुए, सोन चिरैया सा लहराता हुआ हिमालय की गोद में लिटा हुआ…

राम-नाम का अहम – A Poem By Nishant Basu

जो राम शांति और शालीनता की पराकाष्ठा हैं , उनके नाम को लेकर उनके भक्तो का अहम सुनाती कविता। ❧ अहम ? मेरे राम में कैसा अहम? जिसने सबरी के आधे-जूठे, बेर…

‘Letter To You From Me’

Dear All,How do I address you? What do you call people from all over, scattered like autumn leaves on a sunny day? Do I call you friends, guides, angels or my guiding…

Whoever Said Virtual Cant Get Real

As I grow older, I realise my tolerance for bullshit is reducing. You can by now mostly see through the fakes, the forced accent with special emphasis on R like therrre and…