fbpx

Cities

देशव्यापी लॉकडाउन में अपने समय का सदुपयोग कैसे करें?

मौजूदा हालातों में लोग कहीं न कहीं निराशा और दिशाहीनता से जूझ रहे हैं। उनमें एक नई उम्मीद जगाने की ज़रूरत है जो उन्हें इस निराशा से लड़ने में सक्षम बनाये और…

कुछ मीठी यादें – A Narrative Poetry By Pratyush Kumar Pani

आज सारे देश भर में लॉकडाउन है, काफ़ी लोग कई कारणो की वज़ह से परेशान है, कुछ लोगों से उनका रोज़गार छीन गया है और कुछ लोगों को कोरोना की वज़ह से…

Eyes Open, Mouth Shut

Eyes are the mirror to your soul. With India steadily increasing in an upward curve of COVID-19 death rates, more masked men and women are going about their business (including many who…

क्यों आयी हो महामारी? – A Poem by Ashwani Acharya

एक दिहाड़ी पर काम करने वाली मजदूर औरत की कहानी, उसकी ज़ुबानी, जो अभी के हालात समझ नहींपा रही है। जिसकी ज़िन्दगी वैसे ही जुझारू और किस तरह से लॉकडॉउन की वजह…

Shakespeare, Wherever I Go

Ten years have passed and I can still clearly recall my three month trip to the USA. My memory is aided by the fact that my first stopover was in Las Vegas. …

Kolkata, and a Life of Small Things

This time I realised I didn’t have Ram Ray any longer on my list of favourite people to meet in Calcutta. He always indulged me to a good meal every time I…