fbpx

कुछ प्रेम कहानियां बहुत ही अलग होती हैं। जैसे की हमने हीर और रांझा , रोमियो और जूलिएट आदि के किस्से ज़रूर सुने होंगे — अब “का” की मोहब्बत की भी जाने।

एक प्रेम कहानी है, जो मैंने “जी” है,
एक मोहब्बत है, जो मैंने “की” है।
मैं “का” हूँ, पर वो मेरी “की” नहीं,
मैं “था” हूँ , पर वो मेरी “थी” नहीं।
मैं उसे “निहारता” हूँ , पर वो मुझे “निहारती” नहीं,
मैं उसे “देखता” हूँ , पर वो मुझे “देखती” नहीं।
फिर भी…
हमारी मोहब्बत को, मुक्कमल लिखता हूँ,
एक-दुजे को हमेशा संग लिखता हूँ।
क्यों?

क्योंकि…
वो मेरी “की” नहीं , वो मेरा “का” है,
वो मेरी “थी” नहीं, वो मेरा “था” है।
वो मुझे “निहारती” नहीं , वो भी मुझे “निहारता” है,
वो मुझे “देखती” नहीं , वो भी मुझे “देखता” है।

जी हाँ…
एक किस्सा जिसको, हमने हकीकत में “जीया” है,
भलु के ज़माने को, खुदको एक-दुजे का “किया” है।
हम भी हाथ में हाथ डाल चलें हैं,
कभी-कभी छोटी-छोटी बात पे भी लड़े हैं।
हमको भी एक-दुजे की मुस्कान खींचती है,
मोहब्बत बाहों में भीचती है।
हमको भी मिलन की बेला छोटी लगती है
एक-दुजे के बिन ज़िन्दगी खोटी लगती है।

एक बेहद ही खूबसूरत-सा हमारा रिश्ता है,
जहाँ पे…
हम एक-दुजे के थे, हैं और रहेंगे,
हम समलैंगिक हैं , यह गर्व से कहेंगे
हमारा प्यार भी प्यार ही है, इसमें कोई दोष नहीं ,
जनाब…
“मेरा साथी मझुसा नहीं हो सकता” ऐसा तो प्यार का शब्दकोष नहीं।

ज़माने से भी कहते हैं…
आप जैसे ही हम लोग हैं, हमारी मोहब्बत के बीच आप आये नहीं ,
कानून ने भी हामी भरी है , आप भी अब हमको अपनाने से कतराए नहीं।
माना की…
हम जनसंख्या में कम हैं,
पर हम हैं!
इसमें कोई संदेह नहीं ,
मोहब्बत रूह से है, बीच में आती देह नहीं।

— kyakarogeyjaankar


We discovered the mysterious poet @kyakarogejaankar through our #NotWithoutMyMa contest, where he was the winner! He has a real talent for Hindi poetry, and you can check out some of his stuff on his Instagram page.

Don’t forget to follow MoodyMo on Facebook or Instagram for lots more interesting stuff on people, places, brands, unheard voices and unsung heroes every week!


No Comments Yet

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Subscribe Now